तुला राशि के लोगों के लिए चमत्‍कार की तरह है ये रत्‍न, बदल सकता है किस्‍मत के तारे

Indian Astrology | 16-Jan-2023

Views: 153
Latest-news

राशिचक्र की 12 राशियों में से सप्‍तम राशि तुला है। इस राशि के स्‍वामी ग्रह शुक्र देवता हैं। तुला राशि का प्रमुख तत्‍व वायु है और इस राशि का चिह्न तराजू है जो कि संतुलन और शांति को दर्शाता है। तुला राशि के लोग जीवन के हर पहलू और क्षेत्र में संतुलन चाहते हैं। तुला राशि का भाग्‍य रत्‍न इनके जीवन को बदल सकता है। यहां हम आपको बता रहे हैं कि तुला राशि के लोगों का भाग्‍य रत्‍न कौन-सा है।

 

यह भी पढ़ें: करियर और किस्‍मत दोनों चमका सकता है सूर्य का यह रत्‍न, इस एक राशि वालों की तो बदल सकती है पूरी दुनिया

 

तुला राशि का भाग्‍य रत्‍न कौन-सा है

 

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, ओपल राशि तुला के लिए भाग्‍य रत्न है। ओपल अपने ज्योतिषीय महत्व और बेजोड़ सुंदरता के लिए पसंद किया जाने वाला सबसे रंगीन रत्न है। ओपल स्टोन प्रकाश, शुद्धता और रहस्यमय खेल की एक पहेली है। यह रत्न तुला राशि वालों के सकारात्मक पक्ष को सामने लाने में मदद करता है और उन्हें तर्कसंगत और आशावादी रूप से सोचने में मदद करता है। यह तुला राशि वालों को उनकी क्षमता और ऊर्जा को सही दिशा में लगाने में भी मदद करता है।

जिस प्रकार शुक्र ग्रह तुला राशि पर शासन करता है, उसी प्रकार यह ओपल पर शासन करता है। जब कोई ग्रह किसी रत्न पर शासन करता है, तो ज्योतिषियों का मानना है कि ये विशेष रत्न उस ग्रह की सभी ऊर्जाओं के लिए शुद्ध स्रोत के रूप में कार्य करते हैं।

ओपल तुला राशि वालों के लिए प्रेममय ऊर्जा को प्रसारित करने का काम करता है। यह विशेष रूप से तुला राशि के लोगों को लाभ पहुंचाता है।

 

तुला राशि वाले ओपल कैसे पहनें

 

ज्योतिषी और क्रिस्टल चिकित्सक सलाह देते हैं कि तुला राशि वालों की सबसे बड़ी ताकत ओपल होता है। कुछ लोग दाहिनी मध्यमा अंगुली में 6 कैरेट या उससे अधिक वजन का ओपल पहनते हैं। यह अत्‍यंत विशिष्ट रत्‍न है। ओपल रत्न को शुक्रवार की सुबह 12 बजे धारण करना चाहिए।

 

भारत के श्रेष्ठ ज्योतिषियों से ऑनलाइन परामर्श करने के लिए यहां क्लिक करें!

 

ओपल की धारण विधि

 

शुक्रवार की सुबह स्‍नान करने के बाद अपने घर के पूजन स्‍थल के सामने पूर्व की दिशा में मुख कर के बैठ जाएं। अब एक कटोरी में 1 चम्मच दही, शहद, गंगाजल, तुलसी के पत्ते और घी के साथ 10 मिनट तक ओपल स्‍टोन को डुबो कर रखना है। 

इसके बाद 108 बार "ॐ शुक्राय नमः" मंत्र का जाप करें। आप ओपल को चांदी, प्लेटिनम और सोने में पहन सकते हैं। ओपल रत्न सामाजिक स्थिति को बढ़ाता है और उन लोगों के लिए सबसे अच्छा है जो फैशन, अभिनय, आभूषण आदि जैसे रचनात्मक क्षेत्र में काम करते हैं। यह आपको जीवन में कठिन समय का सामना करने की शक्ति देता है।

 

तुला राशि के लिए अन्‍य शुभ रत्‍न

 

तुला राशि के लोगों को ओपल रत्‍न से भाग्‍य, उत्‍साह और शांति मिलती है और इसके प्रभाव से मन और शरीर स्‍वस्‍थ रहता है। यदि आप किसी कारणवश ओपल नहीं पहन पा रहे हैं, तो इसके स्‍थान पर आप एक्‍वामरीन, रोज क्‍वाट्र्ज, ब्‍लड स्‍टोन पहन सकते हैं। ओपल स्‍टोन को उपरत्‍न सफेद टोपाज पहन सकते हैं।

एक्वामरीन : यह पत्थर तुला राशि के लोगों को उनके लगातार बदलते मूड को स्थिर करने और उनके रिश्तों से किसी भी नकारात्मक भावनाओं को दूर करने में सहायता करता है। रोज क्वार्टज : यह स्‍टोन तुला वालों के प्राकृतिक तत्वों को मजबूती प्रदान करता है। यह उन्हें अपनी जरूरतों को पहले रखने के लिए प्रोत्साहित करता है ताकि वे दूसरों के लिए बेहतर तरीके से तैयार हो सकें।

 

यह भी पढ़ें: साल 2023 में इन राशियों से खत्‍म होगी शनि की साढ़े साती और ढैय्या

 

कैसे होते हैं तुला राशि वाले

 

इस राशि वाले नेतृत्वकर्ता होते हैं और स्मार्ट और बुद्धिमान होते हैं। वे संभावनाओं को देखने और जोखिम उठाने में सक्षम होते हैं। ये दूसरों से से दस कदम आगे सोचते हैं और इसलिए उन्हें बेवकूफ बनाना बहुत मुश्किल होता है।

तुला राशि वाले दूसरों की बहुत परवाह करते हैं लेकिन यह नहीं जानते कि इसे कैसे दिखाना है। तुला राशि के जातक सबसे ज्‍यादा ईमानदार होते हैं। उन्हें परवाह नहीं है कि कौन इन्‍हें पसंद नहीं करता है।

 

ओपल रत्‍न के लाभ

 

यह पेट और आंख जैसे चिकित्सा विकारों का इलाज करने में मदद करता है। इस रत्‍न को धारण करने से  प्यार, सौभाग्य, खुशी, सकारात्मकता आती है। यह रचनात्मकता, जुनून और शक्ति को बढ़ाता है। इस रत्‍न के प्रभाव से वैवाहिक क्‍लेश खत्‍म होता है। यह किडनी के कामकाज में सुधार करता है और सौभाग्य लेकर आता है।

ओपल आकर्षण और सौंदर्य प्रदान करता है और आर्थिक स्थिति को मजबूत करने का काम करता है। यह आपको कानूनी मामलों से बाहर निकलने में मदद करता है। यह खतरनाक जगहों की ओर जाने से बचाता है और भ्रम और चंचलता को दूर करता है। यह रीढ़ और रक्त संबंधी समस्याओं को ठीक करता है और आपको पृथ्वी की सकारात्मक  ऊर्जा से जोड़ता है।

 

तुला राशि वाले ओपल रत्‍न धारण को लेकर ध्‍यान रखें

 

प्रत्‍येक वैदिक रत्‍न पर किसी ना किसी ग्रह का प्रभाव होता है। यदि आप रत्‍न को गलत तरह से धारण करते हैं या गलत स्‍टोन पहन लेते हैं, तो इस स्थिति में आपको उस ग्रह के अशुभ प्रभाव मिलने शुरू हो सकते हैं।

आपके जीवन में शांति की कमी होने लगती है। जीवनसाथी के साथ रिश्‍तों में खटास आने लगती है। प्रेम संबंध खराब होने लगते हैं। दोस्‍तों, परिवार और रिश्‍तेदारों के साथ अनबन होने का डर रहता है। वैवाहिक जीवन में समस्‍याएं और उतार-चढ़ाव बढ़ सकते हैं। ऐसे किसी भी तरह के दुष्‍प्रभाव से बचने के लिए आपको रत्‍न धारण करने से पहले किसी अनुभवी ज्‍योतिषी से परामर्श करना चाहिए।