Mars retrograde 2022 : 13 नवंबर तक इन राशियों पर आ सकती है आफत, मंगल गड़ाए बैठा है टेढ़ी नजर

Indian Astrology | 07-Nov-2022

Views: 203
Latest-news

13 नवंबर, 2022 को मंगल ग्रह वृषभ राशि में व्रकी गोचर कर रहे हैं। इस ग्रहीय परिवर्तन का बारह राशियों पर अलग-अलग प्रभाव पड़ सकता है। किसी के जीवन में इससे सकारात्‍मकता आएगी तो किसी के यह बदलाव परेशानियां लेकर आएगा। जानिए कि मंगल कब और किस समय वृषभ राशि में वक्री हो रहा है और आपकी राशि पर इसका क्‍या प्रभाव पड़ेगा।

इस बार हमारी राशि का मंगल ग्रह 30 अक्टूबर 2022 को शाम के 6 बजकर 19 मिनट पर मिथुन राशि में वक्री हो रहा है और उसके बाद 13 नवंबर 2022 को दोपहर 1 बजका 32 मिनट पर मंगल वृष राशि में वक्री हो रहे हैं। यह 13 जनवरी 2023 तक इसी राशि और गति में रहेंगे।

 

जीवन में किसी भी समस्या का समाधान पाने के लिए प्रश्न पूछें

 

जानिए कि आपकी राशि पर मंगल के इस गोचर का क्‍या प्रभाव पड़ेगा।

मेष राशि

मंगल आपके लग्‍न और अष्‍टम भाव का स्‍वामी है और अब यह इस गोचर के दौरान आपके दूसरे भाव में वक्री हो रहा है। दूसरा भाव परिवार, बचत और वाणी का होता है इसलिए इस गोचर से आपके कम्‍यूनिकेशन पर विशेष असर पड़ेगा। इसके कारण परिवार से भी बहस या अनबन हो सकती है। अष्‍टम भाव के स्‍वामी के दूसरे घर में वक्री होने से अचानक धन हानिक हो सकती है इसलिए संभलकर रहें। इस वक्‍त कोई भी नया काम शुरू ना करें। छात्रों का ध्‍यान भअक सकता है इसलिए फोकस रखें। छात्रों को अपनी एनर्जी में कमी महसूस हो सकती है। मंगल की पंचम भाव पर दृष्टि होने से प्‍यार और रोमांस बढ़ेगा। आप अचानक धार्मिक यात्रा पर जा सकते हैं।

उपाय : रोज सात बार हनुमान चालीसा का पाठ करें।

 

वृषभ राशि

मंगल आपके 12वें और सातवें भाव में है और लग्‍न में वक्री होकर चल रहा है। मंगल की इस स्थिति के कारण आपको अपनी सेहत का ख्‍याल रखना है। खूब पानी पिएं और बॉडी को हाइड्रेट रखने की कोशिश करें। मेडिटेशन और एक्‍सरसाइज की मदद भी ले सकते हैं। विदेश से आपके व्‍यापार का कोई संबंध है तो आपको अधिक सावधान रहने की जरूरत है। अपनी मां को लेकर आप चिंतित हो सकते हैं। उनकी सेहत का भी ध्‍यान रखें। प्रॉपर्टी की खरीद-फरोख्‍त का काम अभी टाल दें क्‍योंकि मंगल के कारण आपके लिए खर्चों और नुकसान के योग बने हुए हैं। मंगल की अपने ही घर पर दृष्टि होने की वजह से शादी का विचार कर रहे लोगों को कुछ अच्‍छी खबर मिल सकती है। आपको यात्रा के दौरान अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है।

उपाय : मां दुर्गा को लाल रंग के फूल अर्पित करें।

 

मिथुन राशि

मंगल आपके छठे और बारहवें भाव में है। यह गोचर आपके बारहवें भाव में हो रहा है। अपने छोटे भाई या बहन के साथ आपकी बहस हो सकती है। किसी ट्रिप की प्‍लानिंग अचानक कैंसिल होने पर आपका पैसा अटक सकता है इसलिए थोड़ा संभलकर रहें। कोई भी हेल्‍थ प्रॉब्‍लम है तो उसे इस समय नजरअंदाज बिलकुल ना करें। मंगल की सप्‍तम भाव में दृष्टि के कारण जीवनसाथी के साथ लड़ाइ हो सकती है और आपके वैवाहिक जीवन में कई उतार-चढ़ाव आ सकते हैं।

उपाय : रोज सुबह भगवान कार्तिकेय की पूजा करें।

 

बृहत् कुंडली में छिपा है, आपके जीवन का सारा राज, जानें ग्रहों की चाल का पूरा लेखा-जोखा  

 

कर्क राशि

आपके लिए मंगल योगकारक ग्रह है और यह आपके केंद्र और त्रिकोण भाव को कंट्रोल करता है। इसका वक्री गोचर आपके ग्‍यारहवें घर में हो रहा है। यह गोचर आपकी सभी इच्‍छाओं को पूरा कर सकता है और आपके लिए लाभ के योग भी बन रहे हैं। ऑफिस में आपको अपनी मेहनत का फल मिल सकता है लेकिन आपको अपनी ईगो को पीछे रखना होगा। छात्रों के लिए बहुत अच्‍छा समय है लेकिन आप थोड़े जिद्दी और लापरवाह हो सकते हैं। आप अपनी फेलियर का दोष अपने दोस्‍तों को दे सकते हैं। कोई हेल्‍थ प्रॉब्‍लम है तो उसे इग्‍नोर ना करें।

उपाय : मंगलवार के दिन भगवान हनुमान की पूजा करें और मिठाई का दान करें।

 

सिंह राशि

मंगल आपके नवम और चौथे भाव में वक्री हो रहे हैं। ऑफिस में आप दूसरों पर हुक्‍म चला सकते हैं। अपना टारगेट पूरा करने में आपको चिड़चिड़ापन या दिशाहीन महसूस हो सकता है। पहले आपको कोई बड़ी जिम्‍मेदारी या पद दिया गया होगा लेकिन अब इसमें आपको कुछ दिक्‍कतें आ सकती हैं। एनर्जी में कमी, चिड़चिड़ापन और गुस्‍सा आ सकता है। आप कोई फिजिकल एक्टिविटी करें। आपको अपनी मां का सहयोग मिलेगा लेकिन सेहत को लेकर थोड़ा सावधान रहें। किसी भटकाव की वजह से छात्रों का पढ़ाई से फोकस हट सकता है।

उपाय : मंगलवार के दिन भगवान हनुमान की पूजा करें और मिठाई का दान करें।

 

कन्‍या राशि

मंगल आपके भाई-बहनों के तीसरे घर और अनिश्चितता और गोपनीयता के 8वें घर पर शासन करता है और अब आपके पिता, गुरु और भाग्य के नौवें घर में वक्री गति में गोचर कर रहा है। इस वजह से आपकी अपने पिता या गुरु के साथ किसी बात पर असहमति हो सकती है। उनकी बात सुनने से ही आपको लाभ होगा। अचानक धार्मिक यात्रा पर जाने की योजना बन सकती है। मंगल की वजह से आपके पिता थोड़े हठी हो सकते हैं। अचानक खर्चे आ सकते हैं इसलिए इनके लिए तैयार रहें। अचानक कहीं पास में घूमने जाने का प्‍लान बना सकते हैं। मां की सेहत को लेकर थोड़ा सतर्क रहने की जरूरत है।

उपाय : मंदिरों में गुड़ और मूंगफली का दान करें।

 

ऑनलाइन सॉफ्टवेयर से मुफ्त जन्म कुंडली प्राप्त करें

 

तुला राशि

मंगल आपके आठवें भाव में गोचर कर रहा है। आपके लिए यह समय थोड़ा मुश्किल हो सकता है। अचानक आपकी जिंदगी में काफी कुछ घटित हो सकता है। इससे आपको मानसिक तनाव हो सकता है। आपकी आर्थिक स्थिति में भी अचानक उतार-चढ़ाव आ सकते हैं। आपकी दूसरों के सज्ञथ बहस हो सकती है। ऊंचे पद वाले या अपने से बड़ों से संभलकर बात करें। यात्रा के दौरान अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है।

उपाय : यदि संभव हो तो रक्‍तदान करें।

 

वृश्चिक राशि

मंगल आपकी राशि के सातवें भाव में गोचर करेगा। इसके प्रभाव से आप अपने रिश्‍ते में डॉमिनेंट और आक्रामक हो सकते हैं। आप दोनों के बीच बेवजह बहस और परेशानियां हो सकती हैं। अपने वैवाहिक जीवन पर विशेष ध्‍यान दें। मंगल की आपके दशम भाव में दृष्टि होने की वजह से ऑफिस में आपकी छवि खराब हो सकती है। अपनी ईगो को कंट्रोल में रखें। खाने को लेकर गलत आदतों का असर सेहत पर पड़ सकता है। 

उपाय : मां लक्ष्‍मी की पूजा करें और उन्‍हें लाल रंग के फूल चढ़ाएं।

 

धनु राशि

मंगल धनु राशि के छठे भाव में गोचर कर रहा है। यह शत्रुओं, सेहत का भाव है। इस समय आपको अपनी सेहत को लेकर बहुत ज्‍यादा सतर्क रहना होगा। इम्‍यूनिटी, लो एनर्जी और शारीरिक शक्‍ति में कमी की शिकायत हो सकती है। शत्रु आपके खिलाफ कोई षड्यंत्र रच सकते हैं लेकिन आपको कोई हानि नहीं होगी। छात्रों को प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी करने में दिक्‍कत हो सकती है। नौवें, बारहवें और एकादश भाव पर इसका पहलू लंबी दूरी की यात्रा की ओर संकेत कर रहा है। खर्चों में बढ़ोत्तरी हो सकती है। इस समय आप ईश्‍वर की आराधना और उपासना करें।

उपाय - गुड़ का नियमित सेवन करें।

 

अब घर बैठे विशेषज्ञ पुरोहित  से कराएं इच्छानुसार ऑनलाइन पूजा और पाएं उत्तम परिणाम!

 

मकर राशि

मंगल का यह वक्री गोचर आपके पंचम भाव में हो रहा है। अपने लक्ष्‍य को पाने के लिए बहुत अच्‍छा समय है। लेकिन कभी-कभी आपको एनर्जी में कमी ओर दिशाहीन महसूस हो सकता है और आप सही निर्णय लेने में हिचक सकते हैं। आपको अपनी रिसर्च का काम दोबारा शुरू करना पड़ सकता है। मंगल के वक्री होने की वजह से आपके प्रेम संबंधों में भी खटास आ सकती है। इस गोचर के दौरान अपने बच्‍चों पर खास ध्‍यान दें। इस समय वो एक्‍स्‍ट्रा एनर्जी और चिड़चिड़ेपन को संभाल नहीं पाएंगे। उनकी एनर्जी को सही दिशा में लगाने की कोशिश करें।।

उपाय : जरूरतमंद बच्‍चों को लाल रंग के वस्‍त्र दान करें।

 

कुंभ राशि

मंगल आपके चतुर्थ भाव में गोचर कर रहा है और इस समय आपको अपने घर और वाहन को अग्नि से बचाने का प्रयास करना है। आपको इस गोचर काल में अपनी मां की सेहत का ख्‍याल रखना है। उनका गुस्‍सा और आक्रामकता बढ़ जाएगी जिससे उनका बीपी लेवल भी खराब हो सकता है। आप अपने पार्टनर को लेकर थोड़ा पेाजेसिव हो सकते हैं। रिश्‍ते में आपका गुस्‍सा बढ़ सकता है। दशम भाव पर मंगल की दृष्टि के कारण ऑफिस में आपका काम बढ़ सकता है और आपको बहुत एनर्जी की जरूरत पड़ेगी। आपके लिए इस गोचर में मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

उपाय - अपनी मां को गुड़ की मिठाई गिफ्ट करें।

 

मीन राशि

मंगल आपके तीसरे भाव में गोचर कर रहा है और यह भाव आपके भाई-बहन को दर्शाता है। इस समय आप अपनी हॉबी को पूरा करने पर काम कर सकते हैं। कुकिंग, मार्शल आर्ट्स सीख सकते हैं लेकिन इस पर आपका बहुत खर्चा हो सकता है या आपको चोट भी लग सकती है। हो सकता है आप इसे बीच में ही छोड़ दें। आपमें साहस और ताकत की कमी हो सकती है। बातचीत में आपका चिड़चिड़ापन दिख सकता है। मंगल के आपके छठे भाव में दृष्टि होने से आपको किसी पुरानी बीमारी से ठीक होने में देरी हो सकती है। आपका स्‍टैमिना और एनर्जी लेवल कम हो सकता है। धार्मिक कार्यों के प्रति आपकी रुचि बढ़ सकती है। आप ज्‍योतिष सीखने की सोच सकते हैं।

उपाय - इस गोचर से अधिक लाभ पाने के लिए आप बजरंग बाण का रोज पाठ करें।

 

विद्वान ज्योतिषियों से करें फ़ोन पर बात और अपने जीवन की हर समस्या का पाएं समाधान!