कैसे जानें किस ज्‍योतिषी के पास मिलेगा आपकी समस्‍या का समाधान?

Indian Astrology | 22-Jul-2022

Views: 333
Latest-news

भविष्‍य की गणना करने या आने वाले समय या घटनाओं के बारे में जानने के लिए ज्‍योतिष पद्यति का प्रयोग किया जाता है। सौरमंडल में ग्रहों की स्थिति के आधार पर किसी भी व्‍यक्‍ति के जीवन की संभावनाओं के बारे में बताया जा सकता है। अपने भविष्‍य के बारे में जानकर ग्रहों की दशा की वजह से होने वाली दुखद घटना को टाल सकते हैं। एस्‍ट्रोलॉजी यानि ज्‍योतिष की मदद से करियर, विवाह, धन, व्‍यापार और सेहत के बारे में जाना जा सकता है। सफल लोग नियमित रूप से ज्‍योतिषियों से सलाह लेते हैं और उनके परामर्श के बाद ही अपनी जिंदगी का कोई अहम फैसला लेते हैं।

क्‍या है ज्‍योतिष

ज्‍योतिष को अंग्रेजी में एस्‍ट्रोलॉजी कहते हैं जो कि एक ग्रीक शब्‍द है। इसमें एस्‍ट्रा का मतलब नक्षत्र और लोगो का मतलब कारण। ज्‍योतिष प्रमुख रूप से नक्षत्रों या ग्रहों पर निर्भर करता है। आसान शब्‍दों में कहें तो ज्‍योतिष नक्षत्रों और ग्रहों की चाल का एक अध्‍ययन है जिसका हमारी जिंदगी पर असर पड़ता है।

ज्‍योतिष का विज्ञान से संबंध

समय के विज्ञान से ज्‍योतिष का संबंध है। हर एक पल का अपना एक विशेष महत्‍व है। उस विशेष समय में पैदा होने पर व्‍यक्‍ति में कुछ विशेषताएं यानि क्‍वालिटी आती हैं। जन्‍म के समय के आधार पर व्‍यक्‍ति की कुंडली बनाई जाती है। इससे जीवन में उसकी यात्रा और भविष्‍य की गणना की जा सकती है। जन्‍मकुंडली बताती है कि शिशु के जन्‍म के समय हर एक ग्रह की क्‍या स्थिति थी। कुंडली के अध्‍ययन से पता चल सकता है कि बच्‍चा कितना होशियार होगा, उसकी शारीरिक क्षमताएं कितनी होंगी, विवाह, बच्‍चे, नौकरी, जीवन की मुश्किलें और कई चीजों के बारे में जान सकते हैं। ऐसे कई अनुभवी ज्‍योतिष (Best Astrologers in Delhi) हैं जो कुंडली देखने में निपुण और सटीक भविष्‍यवाणी करते हैं।

ज्‍योतिष का क्‍या महत्‍व

जब भी जीवन की दुखद घटनाओं की वजह से डिप्रेशन या मन में उलझन पैदा होती है, ज्‍योतिष एक मदद के रूप में हमें रास्‍ता दिखाता है। इससे हमें जीवन की साफ तस्‍वीर दिखती है। ज्‍योतिष प्रमुख रूप से इंसान के कर्म पर निर्भर है। व्‍यक्‍ति के पुराने कर्मों के आधार पर ही उसका आज और आने वाला कल जुड़ा होता है। ज्‍योतिष एक ऐसी पद्यति है जो मुश्किल समय में व्‍यक्‍ति को हिम्‍मत देती है और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है।

आप Future Point के अनुभवी ज्‍योतिषयों (Best Astrologer in Delhi) से सलाह ले सकते हैं।

ज्‍योतिष के लाभ

ज्योतिष विज्ञान का एक अमूल्य खजाना है जो हमें अपने जीवन को बेहतर और समृद्ध बनाने में मदद करता है। यदि कोई व्यक्ति विवाह संबंधी समस्याओं से पीड़ित है तो ज्योतिष की सहायता से उस व्‍यक्‍ति के वैवाहिक जीवन को खुशहाल बनाने में मदद मिल सकती है। वहीं अगर कोई कर्ज में डूबा है या आर्थिक स्थिति बेहतर नहीं हो पा रही है तो उस व्‍यक्‍ति की कुंडली का विश्‍लेषण करने के बाद आर्थिक लाभ के उपाय बताए जा सकते हैं।

ज्योतिष, जीवन के उद्देश्य और व्यक्ति के भाग्य की संभावनाओं का उल्‍लेख करता है। इसकी सहायता से हम अपनी लव लाइफ, शिक्षा, करियर, स्वास्थ्य, वित्त और रिश्तों के बारे में जान सकते हैं। जो लोग करियर के क्षेत्र में असफलताओं का सामना कर रहे हैं और उनके सभी प्रयास विफल हो रहे हैं, तो वे ज्योतिष की मदद से अपने करियर या पेशे में सफलता पा सकते हैं।

बुरे कर्मों के प्रभाव को ज्‍योतिषीय उपायों की मदद से ठीक किया जा सकता है। दो लोगों की जन्म कुंडली (horoscope prediction) की तुलना करके उनकी भविष्यवाणी की जा सकती है जो सूर्य, चंद्रमा और अन्य सभी ग्रहों की स्थिति और पहलुओं पर आधारित होती है। ज्योतिष हमें अपने भविष्य को उज्जवल बनाने में मदद करता है और यह वर्तमान समस्याओं और जीवन की बाधाओं से निपटने के लिए कुछ उपाय भी सुझाता है।

जीवन पर ज्‍योतिष का प्रभाव

हमारे जीवन में ग्रहों के प्रभाव के सिद्धांत को ज्‍योतिष कहते हैं। सौरमंडल में मौजूद ग्रह किसी ना किसी तरह से हमारे जीवन को प्रभावित करते हैं। ऐसी कई घटनाएं और उदाहरण हैं जो ये साबित करते हैं कि हमारे जीवन पर ज्‍योतिष का प्रभाव पड़ता है। आज के समय में भी ज्‍योतिष भविष्‍य (kundali prediction) की जानकारी और मार्गदर्शन का प्रमुख एवं महत्‍वपूर्ण स्रोत बना हुआ है। जिंदगी में आने वाली मुश्किल परिस्थितियों से लड़ने की ताकत और संभावना हमें ज्‍योतिष में मिल सकती है।

विवाह संबंधी योग एवं भविष्यवाणी ज्योतिष का सबसे महत्वपूर्ण हिस्सा है। भारत या हिंदू धर्म में, लड़के और लड़की का कुंडली मिलान (kundali matching) किया जाता है और इसके बाद ही तय होता है कि उनका विवाह हो सकता है या नहीं। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार ग्रहों की स्थिति कभी भी एक समान नहीं रहती है और वे अक्सर गोचर करते हैं और एक स्थान से दूसरे स्थान पर अपनी स्थिति बदलते हैं। कभी-कभी, ग्रह बुरी तरह से कमजोर होते हैं लेकिन कई बार वे अनुकूल स्थिति में होते हैं। आकाशीय पिंडों या ग्रहों की इन सभी गतियों का हमारे जीवन पर काफी प्रभाव पड़ता है।