एक सुखद विवाह का आधार- राशियों की अनुकूलता व कुंडली मिलान

Indian Astrology | 02-Sep-2021

Views: 799
Latest-news

इस महामारी के दौरान अनेक विवाह योग्य नवयुवकों व नवयुवतियों को अपने सुखी विवाहित जीवन के लिए लम्बे समय तक इंतज़ार करना पड़ा और वे जिनके विवाह पहले ही सुनिश्चित हो गए थे उन्हें उचित ज्योतिषीय सलाह न मिलने के कारण अपने सपनो पर रोक लगानी पड़ी। 

Kundli Milan, एक सुखद वैवाहिक रिश्ते को बनाने में अत्यंत महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है पर ऐसे समय में जब लोग किसी से मिल जौल नहीं रख पा रहे थे ऐसी स्थिति में ऑनलाइन ज्योतिष ने लोगो की बहुत मदद की।

अब भी आप घर बैठे हमारे अनुभवी ज्योतिषियों से किसी भी मुद्दे पर विचार विमर्श पा सकते है। ज्योतिषीय सलाह के लिए क्लिक करें

शादी के लिए Kundli की एक दुसरे के जीवन में अनुकूलता जानने के लिए इनका मिलान अत्यंत आवशयक है जो केवल एक अनुभवी ज्योतिषी ही कर सकता है। 

आप हमारी विभिन्न राशियों पर आधारित प्रेम अनुकूलता सेवाओं को चुन कर अपने लिए एक प्रभावी व अनुकूल जीवन साथी चुन सकते हैं। यदि आप शादी या प्यार में परेशानी महसूस कर रहे हैं, तो यह आपके लिए बिलकुल सही साइट है। 

हम विवाह सम्बन्धी सटीक भविष्यवाणियों के लिए अपना सर्वश्रेष्ठ प्रयास करते हैं और आपको एक सुखी वैवाहिक जीवन पाने की तरफ अग्रसर करते हैं।

क्या आपकी कुंडली में हैं प्रेम के योग ? यदि आप जानना चाहते हैं देश के जाने-माने ज्योतिषाचार्यों से, तो तुरंत लिंक पर क्लिक करें।

Kundli Milan के द्वारा प्रेम और विवाह को साथ लाना 

प्रेम इस दुनिया की सबसे कीमती चीज है जो इंसान अपने जीवन में प्राप्त कर सकता है। विवाह एक शक्तिशाली बंधन है जो आपके प्यार को एक पवित्र बंधन में बांध देता है। अत: इन संवेदनशील मामलों में सावधानी से कदम उठाए जाने चाहिए। ज्योतिष के अनुसार कुंडलियों का अध्ययन करने के पश्चात इस प्रेम के बंधन को शादी के मजबूत बंधन में बंधा जा सकता है।

विवाह के लिए Kundli Milan व्यक्ति को कैसे लाभ पहुंचाती है?

कुंडली मिलान हर भारतीय विवाह समारोह में की जाने वाली पहली गतिविधि है। यह दो आत्माओं को वैवाहिक जीवन में बांधने के साथ साथ सुख का निर्धारण भी करता है। 

यह हर उस संभावना की भविष्यवाणी कर सकती है जो प्रभावी युगल के जीवन में घट सकती है। कहा जाता है प्यार अँधा होता है परन्तु कई बार हमारे सितारे इस प्यार के बंधन के साथ-साथ सुख की सुनिश्चितता नहीं देते और ऐसे युगल जीवन भर परेशान रहते हैं। 

यह एक दुखद स्थिति है इसी स्थिति में ज्योतिष अत्यंत महत्वपूर्ण सिद्ध होती है जो आने वाले खतरे का पहले से ही आभास करवा कर जातक को आने वाले अशुभ समय के लिए तैयार कर देती है। 

विवाह के लिए कुंडली मिलान के विभिन्न लाभ इस प्रकार हैं-

  • यह जाने में मदद करेगा कि आपका जीवनसाथी आपकी बात मानेगा और शादी में आपका सम्मान करेगा या नहीं।
  • यह शादी के बाद जोड़ों के बीच प्रेम की संभावनाओं को निर्धारित करने में भी मदद करेगा।
  • यह भाग्य पर आधारित विभिन्न दृष्टिकोणों की व्याख्या करता है - उनके वैवाहिक जीवन के दौरान लड़की और लड़के दोनों की कुंडलियों पर आधारित भविष्यवाणियां।
  • इससे शादी के बारे में स्पष्ट भविष्यवाणी प्राप्त करने में भी मदद मिलेगी। यह बताएगा कि आपका विवाह सफल रहेगा या असफल।
    कुंडली संगतता जांच से जोड़ों को समाज में अपना स्थान जानने में मदद मिलेगी।
  • हमारे प्रसिद्ध ज्योतिषी आपको जीवन के विभिन्न पहलुओं के बारे में बताएंगे। यानी आपकी शादी में छिपे धन, सेहत और खुशी के नजरिए से।

ज्योतिषी आपको इस बात का भी स्पष्ट अंदाजा देंगे कि आपकी शादी के कारण आपका परिवार कैसे आगे बढ़ेगा।

इस बुनियादी जानकारी के अलावा किसी अन्य विशिष्ट प्रश्न का भी उत्तर दिया जा सकता है। यह आपके और आपके साथी की कुंडली के गहन अध्ययन के बाद सुनिश्चित किया जाएगा।

 विवाह की अनुकूलता की परख करने के लिए अष्टकूट पद्धति का प्रयोग किया जाता है। यह पद्धति प्राचीन काल से चली आ रही है और इसकी व्याख्या कई वैदिक ज्योतिषीय पाठ्यपुस्तकों और पुराणों में पाई जा सकती है।

आपकी कुंडली में है कोई दोष? जानने के लिए अभी खरीदें  बृहत् कुंडली

इसका सूक्ष्म विवरण इस प्रकार से है-

वर्ण 

बारह प्रकार की राशियों को चार प्रकार के वर्णों में वर्गीकृत किया गया है। ये हैं ब्राह्मण क्षत्रिय वैश्य और शूद्र। यह श्रेणी विवाह के लिए कुंडली मिलान में प्रमुख भूमिका निभाती है। आमतौर पर यह बहुत अच्छा होता है अगर किसी लड़की का वर्ण उसके होने वाले पति से कम हो। यह आगामी विवाह में सामंजस्य सुनिश्चित करेगा। वर्ण अनुकूलता जांच के बाद ही यह तय किया जा सकता है कि विवाह में किस जीवन साथी का आधिपत्य रहेगा।

वश्य 

इसे जाति मिलान भी कहा जा सकता है। ये पांच प्रकार के होते हैं- मनुष्य, जीव, जलचर , वन्य प्राणी और कीड़े। मिथुन, कन्या, तुला, धनु, कुंभ राशि को मनुष्य की श्रेणी में रखा गया है। वृश्चिक राशि के जातक कीड़ों की श्रेणी में आते हैं। सिंह विभिन्न प्रकार के वन्य जीवों में आते हैं। मेष, धनु और वृषभ प्राणी की श्रेणी में आते हैं। अंत में, मकर मीन और कर्क राशि पानी के भीतर रहने वाले प्राणियों की श्रेणी में आते हैं। यदि कोई युवक या युवती अपनी कक्षा में शादी नहीं करता है, तो यह अच्छा नहीं माना जाता और उन्हें वैवाहिक समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

तारा

इसका उपयोग विवाह में भाग्य मिलान करने के लिए किया जाता है।

योनि

विवाह के लिए कुंडली अनुकूलता के अनुसार कुल 14 योनियां होती हैं। ये सत्ताईस नक्षत्रों पर आधारित हैं। सफल विवाह के लिए विवाह अनुकूल योनि में होना चाहिए। असंगत योनि के साथ किया गया कोई भी विवाह एक बुरे अंत को प्राप्त होगा। यह भी एक कारण है कि कुंडली क्यों मिलनी चाहिए।

ग्रह मैत्री 

विवाह से पहले ग्रहों और स्थितियों का मिलान होना अत्यंत आवश्यक है क्यूंकि एक सुखद विवाह के लिए ग्रहों का आपसी सामंजस्य बहुत आवश्यक है। घर में कोई विवाद व अवसाद की स्थिति से बचने के कलिये ग्रहों का मिलान बहुत आवश्यक है।

गण मैत्री

वाह के लिए कुंडली मिलान करते समय नक्षत्रों की अनुकूलता को गण मैत्री कहा जाता है। गणों में ३ वर्गों में बांटा गया है। वे हैं- देव, मानव और राक्षस गण। अत: समान गण मिलान में किया गया विवाह ही सौभाग्य की प्राप्ति कराता है।

नाड़ी

कुंडली मिलान के लिए नक्षत्र को तीन प्रकारों में वर्गीकृत किया गया है। ये आदि नाड़ी, मध्य नाड़ी और अंत नाडी हैं। विवाह के लिए दोनों की नाड़ी एक ही वर्ग से सम्बंधित नहीं होनी चाहिए। ऐसे जोड़ों को अपने विवाह में स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं और परिवार नियोजन की समस्याओं का सामना करना पड़ेगा

वैवाहिक जीवन को सुखमय बनाने के लिए हमारे विशेषज्ञ ज्योतिषी से परामर्श लें

विभिन्न राशियों की आपसी अनुकूलता 

मिथुन और तुला

यह एक सुखद जोड़े को दर्शाता है जहां जीवनसाथी एक दूसरे का सम्मान और सराहना करते है। यह जोड़ा भावुक प्रेम को दर्शाता  है जिनकी आपसी समझ सर्वोत्तम है। इस प्रकार की सम्बन्ध वांछनीय है।

कर्क और कर्क 

ये एक आदर्श मैच हैं क्योंकि ये अपने पार्टनर को पूरी तरह से समझते हैं। आपको हमेशा ऐसा लगता है कि आपका बेटर हाफ आपके साथ एक ही लीग में है। यह जोड़ा अक्सर किसी भी प्रेम समस्या से बाहर आ जाता है। अतीत की कोई भी घटना उनके विवाह की स्थिरता को भंग नहीं कर सकती।

तुला और धनु 

ये कपल काफी क्रिएटिव होते हैं। फिर भी, वे हमेशा प्यार और जुनून में डूबे रहते हैं—चाहे कैसी भी परिस्थितियां हों, प्रेम बना रहता है।

सिंह और मीन 

इन राशियों के संबंधों में काफी स्थिरता होती है। ऐसे क्षण भी आएंगे जब वे अपने रिश्ते से निराश हो जाएंगे। लेकिन दिन के अंत में, सब कुछ ठीक हो जाएगा। यह जोड़ा भी वैवाहिक जीवन का आनंद लेता है।

वृश्चिक और मकर

यह कपल हमेशा बेहद रोमांटिक मूड में रहता है। फ्लर्ट करने की इनकी प्रवृत्ति से रिश्ते में मधुरता आती है। इनके रिश्ते में नोंक झोंक चलती रहती है और ये एक मीठे और खट्टे रिश्ते का आनंद लेते हैं। इस तरह का रोमांस बिल्कुल वैसा ही होता है जैसा कोई अपने जीवन में प्राप्त करना चाहता है।

तुला और मीन 

यह कपल एक दूसरे से बिल्कुल भी प्यार नहीं करता  और उनका रिश्ता काफी संघर्ष से गुजरता है। पर संघर्ष के बाद ये अपने रिश्ते को एक सुदृण रूप देने में सक्षम होते हैं। नतीजतन, वे अपने वैवाहिक संबंधों में एक मजबूत बंधन का आनंद लेते हैं।

हमारे ज्योतिषी कुछ अन्य प्रकार की स्थितियों का भी पता लगा सकते हैं। ऐसी भविष्यवाणी आपके जन्म विवरण पर आधारित होगी। हम कई विकल्प प्रदान करते हैं ताकि आप अपने साथी के साथ संगतता की जांच कर सकें। भारत के किसी भी कोने से कोई भी व्यक्ति प्रौद्योगिकी के सबसे तेज़ माध्यमों से हमारी सेवाओं का लाभ उठा सकता है। यह सुविधा हमारे ज्योतिष द्वारा प्रदान की गई वर्षों की अनुभवी सेवा के साथ आती है। तो ग्राहकों को हर वह जवाब मिल सकता है जो वे शादी के लिए कुंडली अनुकूलता से जानना चाहते हैं। सही मार्गदर्शन के लिए क्लिक करें

यह भी पढ़ें:

शीघ्र विवाह के सरल ज्योतिष उपाय
जन्म कुंडली में धन योग है या नहीं
वैदिक ज्योतिष के अनुसार कब बनता है विवाह योग
कालसर्प दोष निवारण यंत्र से मिलती है हर बाधा से मुक्ति