यदि बिजनेस में आ रही है परेशानियां, तो करें ये विशेष उपाय,

Indian Astrology | 24-Mar-2020

Views: 486

बिजनेस में आज हर एक जातक सफल होना चाहता है, और उसके मन में एक सवाल हमेशा उठता है कि मेरा बिजनेस सही चलेगा या नहीं, यदि बिजनेस चलता है तो आपकी समृद्धि बनी रहेगी, और आपके जीवन में खुशियां बनी रहती हैं, लेकिन अगर बिजनेस में कोई नुकसान हो जाए या घाटा हो तो कर्ज या आर्थिक संकट की स्थिति बन जाती है। कई बार इसके लिए जिम्मेदार कुंडली के अशुभ ग्रहयोग भी होते हैं, जैसे- पितृदोष, कालसर्प दोष, केमद्रुम दोष आदि दोषों और पाप ग्रहों के बुरे प्रभाव के कारण कभी कोई सुख प्रा‍प्त नहीं होता, तो कभी देवी-देवताओं के प्रति किए गए अपराध के चलते भी दुखों और समस्याओं का सामना करना पड़ता है। तो कभी-कभी वास्तुदोष के कारण भी व्यक्ति समस्याओं से घिरा रहता है| ज्यादातर लोगों का यही कहना होता है, कि बिजनेस शुरू करते समय यदि उन्हें किसी का सही मार्गदर्शन मिल गया होता तो निश्चित रूप से वह एक सही राह पर बढ़ सकते थे| यदि बिजनेस को शुरू करने से पहले सही ज्योतिषीय सलाह ली जाये तो उसमे सफलता निश्चित रूप से प्राप्त होती है|

करियर में सफल होना बहुत जरूरी है, एक सफल जिंदगी के लिए अच्छा करियर बहुत जरूरी है, अगर आप अपनी नौकरी में संतुष्ट हैं और बिजनेस में पर्याप्त तरक्की कर चुके हैं, तो आपकी जिंदगी के अन्य उद्देश्यों की भी पूर्ति आसानी से होगी, लेकिन कई बार जिंदगी इतनी आसान नहीं होती है और करियर में कई बार उतार-चढ़ाव आने लगते हैं, कई बार ऐसा होता है कि बहुत प्रयास करने के बाद भी कोई काम नहीं बनता और कई बार बनते-बनते बिगड़ जाता है। सफलता आते-आते आपके हाथों से फिसल जाती है। यदि कड़ी मेहनत के बाद भी आपकी पैसों की कमी दूर नहीं हो रही है या आप और अधिक पैसा कमाना चाहते हैं तो कुछ ज्योतिषीय उपायों के जरिए आप पैसों की तंगी दूर कर सकते हैं। लेकिन ज्योतिषीय टोटके करते समय पूर्ण सावधानी के साथ-साथ गोपनीयता रखना भी बहुत जरूरी है। जो भी व्यक्ति ये उपाय करता है उसे किसी और व्यक्ति से इसकी चर्चा नहीं करनी चाहिए। अन्यथा ये उपाय निष्फल हो जाते हैं। अगर आपके भी बिजनेस में मुनाफा या बरकत नहीं हो रही है तो आपको घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि ज्योतिषशास्त्र में मनुष्य की प्रत्येक समस्या का हल है| ज्‍योतिष शास्‍त्र के कुछ चमत्‍कारिक उपाय और टोटकों से आप अपने बिजनेस में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। तो आइए जानते हैं| ज्योतिषीय योगों और उपायों के बारे में,


Get Finance Report from Indian Astrology


बिजनेस के योग-

ज्योतिष शास्त्र मनुष्य को जन्मकुंडली के माध्यम से बताता है कि आपको किस तरह का बिजनेस करना चाहिए जो आपके लिए आगे जीवन के बढ़ते कदम में फलीभूत हो और आपका नाम एक अच्छे बिजनेसमैन के रूप में जाना जाये| परन्तु ऐसा योग हर व्यक्ति की जन्मकुंडली में नहीं होता क्योंकि हर व्यक्ति की जन्मकुंडली में बैठे ग्रह एक जैसे नहीं होते हैं| जन्मकुंडली में दशम भाव व दशमेश का सम्बन्ध आपकी जीविका से होता है। और वहीँ सप्तम भाव बिजनेस का होता है इसलिए बिजनेस का विचार करते समय सप्तम सप्तमेश, द्वितीय, द्वितीयेश व एकादश भाव, एकादशेश का भी कुण्डली में मजबूत होना आवश्यक होता है। क्योंकि द्वितीय व द्वितीयेश का सम्बन्ध धन से होता है और वहीँ एकादश भाव व एकादशेश का सम्बन्ध लाभ से होता है। व्यापार में धन व लाभ का विशेष महत्व है। धन नहीं होगा तो बिजनेस कर पाना मुश्किल है और धन अच्छे से नहीं आयेगा तो बिजनेस करने से क्या लाभ। ग्रहों के माध्यम से हमें यह जानकारी मिलती है कि हमारी जन्मकुंडली में बिजनेस के योग हैं या नहीं तथा हमारी जन्मकुंडली का व्यापार स्थान हमें बिजनेस करने की इजाजत देता है क्या आप बिजनेस कर सकते हैं| यदि हमारी जन्मकुंडली में व्यापार भाव व व्यापार स्थान में बैठा ग्रह शुभ स्थिति में है तो उस ग्रह से सम्बंधित कार्य या व्यापार कर अपना जीवन खुश रख सकते हैं| और यदि कुंडली में योग न हो तो व्यापार में सोच समझ कर कदम उठायें नहीं तो आपको नुकसान उठाना पड़ सकता है| यदि आपकी जन्मकुंडली में व्यापार भाव कमजोर है और आप खुद का बिज़नेस करना ही चाहते हैं तो आप अपनी जन्मकुंडली के अशुभ ग्रहों के उपाय कर के एक अच्छे बिजनेसमैन (व्यापारी) बन सकते हैं|

बिजनेस वृद्धि के ज्‍योतिषीय उपाय-

  • जन्मकुंडली में पंचमसप्तम, एवं आय भाव (एकादशभाव) तथा व्यापार भाव से जुड़े अन्य ग्रहों की जानकारी लेनी चाहिए कि मेरी कुंडली में व्यापार का योग है या नहीं| यदि है तो किस तरह का व्यापार मेरे लिए शुभ रहेगा| यह जानकारी जातक को अपनी जन्मकुंडली में बैठे व्यापार से सम्बंधित ग्रहों के आधार पर प्राप्त हो सकती है|
  • बिजनेस की वृद्धि के लिए नित्य लक्ष्मी सूक्त या कनकधारा स्त्रोत्र का पाठ करें|
  • बिजनेस करने वालों को अपनी जेब में विषम संख्या में जैसे 3 या 5 गोमती चक्र को चाँदी की तार में पिरो या किसी कपड़े में डालकर अपनी जेब में रखना चाहिए। रात में घर में मंदिर के स्थान पर रख देने से व्यापारिक कार्यों में लाभ मिलता है। इस उपाय से आत्मविश्वास बढ़ता है।
  • नारियल के फल को चमकीले नए लाल कपड़े में लपेटकर घर और व्यापार के पूजा स्थल या तिजोरी में रखकर प्रतिदिन धूप व अगरबत्ती दिखाने से भी धन लाभ के योग बनते है।
  • व्यापारिक स्थल के पूजा घर में स्फटिक श्री यंत्र और एकाक्षी नारियल स्थापित करके प्रतिदिन गुलाब की सुगंधित अगरबत्ती से पूजा करने से व्यापार में निश्चित सफलता प्राप्त होती है।
  • तांबे के बर्तन में गुड़ लेकर सुबह सूर्य भगवान को अर्पित करें, सूर्योदय के एक घंटे के भीतर अर्घ्य दें, जल अर्पित करते वक्त 11 बार ''ॐ हीं सूर्याय नम:'' का जाप करें|
  • आप नींबू और हरी मिर्च के प्रयोग से भी अपने व्यापार व कारोबार को बढ़ा सकते हैं। इसके लिए 7 हरी मिर्च और 7 नींबू लेकर माला बनाएं और उसे दुकान में वहां पर टांगें, जहाँ ग्राहक की निगाह पड़े। ये बहुत ही आसान सा उपाय है, इसके आपको काफी अच्छे परिणाम मिलेंगे।
  • शनिवार के दिन कौवे को उबला हुआ चावल खिलाएं, कौवा शनि ग्रह का प्रतिनिधित्व करता है, ज्योतिष में शनि करियर पर शासन करता है, कौवे को खिलाने से शनि शांत होते हैं|
  • कारोबार में नुकसान या झगड़े की स्थिति होने पर अपने वज़न के बराबर कच्चा कोयला लेकर पानी में प्रवाहित कर दें, ऐसा करने से अवश्य लाभ होगा।
  • व्यापार स्थल पर किसी भी प्रकार की समस्या हो, तो वहां श्वेतार्क गणपति तथा एकाक्षी श्री फल की स्थापना करें और फिर नियमित रूप से धूप, दीप आदि से पूजा करें तथा सप्ताह में एक बार मिठाई का भोग लगाकर प्रसाद यथासंभव अधिक से अधिक लोगों को बाँटें। चाहें तो भोग नित्य प्रति भी लगा सकते हैं।
  • कार्यक्षेत्र पर जाते वक्त अपने इष्ट देव का ध्यान करें और कोई सुगंधित इत्र लगाएं, ऐसा करने से व्यापार में सफलता मिलेगी।
  • भगवान गणेश को विघ्न विनाशक कहा जाता है, अगर करियर में किसी भी तरह की समस्याएं आ रही हों तो उनके बीज मंत्र का जाप करने से लाभ मिलेगा, नित्य ''ऊं गण गणपतये नमः'' इस मन्त्र का जाप करें|
  • कार्यक्षेत्र में सफलता के लिए किसी सफल व्यक्ति को अपना आदर्श बना लें और उस व्यक्ति की तस्वीर अपने कक्ष में लगाएं। रोजाना समय निकालकर उस व्यक्ति के जीवन के बारे में अध्ययन करें और खुद को उसके बराबर लाने की योजना बनाएं।
  • व्यापार में मंदी आ जाने पर किसी साफ शीशी में सरसों का तेल भरें और उसे किसी बहती नदी या तालाब के जल में प्रवाहित कर दें। व्यापार फिर से उठने लग जाएगा।
  • कोई ऐसी दुकान जो काफी चलती हो, वहां से लोहे की कोई कील नट या कोई लोहे का सामान आदि शनिवार के दिन ख़रीदकर ले आएं। काली उड़द के 10-15 दानों के साथ उसे एक शीशी में रख लें। धूप-दीप से पूजा कर ग्राहकों की नज़रों से बचाकर दुकान में रख लें। व्यवसाय खूब चलेगा।

भारतीय ज्योतिष के ज्योतिष विशेषज्ञों से अपनी कुंडली का विश्लेषण करवाकर अपने बिजनेस में आ रही बाधाओं से मुक्ति प्राप्त करें|