जानिए, वाहन दुर्घटना से बचाव के लिए क्यों किये जाते हैं ज्योतिष उपाय ।

Future Point | 20-Apr-2019

Views: 1084

वाहन चाहें व्यक्तिगत उपयोग के लिए हो या व्यावसायिक दृष्टिकोण से वाहन खरीदें उसकी सुरक्षा के लिए उपाय करने आवश्यक बन जाते हैं जिससे आपका वाहन व आप वाहन दुर्घटना से बच सकें. दुर्घटना कभी भी बता कर नहीं होती। यह तो अंजाने में घटित हो जाती है। ऐसे ही अगर वाहन दुर्घटना कि अगर बात करें तो ज्योतिष शास्त्र में इसका संबध गृह से बताया गया है।

वाहन गृह दोष कि वजह से इस प्रकार कि घटना घटित होती है। हर इंसान चाहता है कि उसके साथ कभी भी इस प्रकार कि घटना न हो। अगर आप भी कुछ इस प्रकार की घटना से बचना चाहते हैं तो यहां पर आज हम ज्योतिष के माध्यम से कुछ ऐसे ही उपाय के बारे में आपसे बताने जा रहे हैं, जिन्हे अगर आप अपने जीवन में अपनाते हैं, तो आप जीवन भर इस प्रकार की घटना से बच सकते हैं।

वाहन दुर्घटना से बचने का खास उपाय -

ज्योतिष के अनुसार वाहन दुर्घटना से बचाव के लिए सबसे पहले एक छोटा सा चौकोर लाल रुमाल लिया जाता है। इस लाल रुमाल के चारों किनारे पर लाल चंदन में गंगाजल मिलाकर स्वस्तिक बनाएं जाते हैं। साथ ही रुमाल के बीच में भी एक स्वस्तिक बनाया जाता है और उनमें कुछ छुहारे रख दिए जाते हैं। साथ ही साथ हनुमान जी का स्मरण भी किया जाता है। इसके बाद ॐ श्री रामाय , ॐ श्री हनुमते नमः का 108 बार जाप किया जाता है।

साथ ही श्रीराम और हनुमान जी का ध्यान करते हुए दक्षिण दिशा की तरफ मुख करके आप उन छुहारों को रुमाल में बांध लिया जाता है। फिर इस पोटली को अपने घर में या किसी हनुमान मंदिर में जाकर हनुमान जी के चरणों से लगाकर अपने वाहन में रख लिया जाता है। माना जाता है कि ऐसा करने से हर प्रकार की वाहन दुर्घटना से बचाव होता है।

जातक की राशियों के अनुसार वाहन दुर्घटना से बचने के उपाय…

    मेष राशि के जातक–

    यदि आप मेष राशि के जातक हैं तो आप अपने वाहन एवं स्वयं की सुरक्षा के लिए हनुमान जी की मूर्ति पर सिंदूर का चोला चढ़ाना चाहिए, इसके अलावा गुड़ साढ़ को खिलाना चाहिए, आप जब भी अपना वाहन लेकर निकलें तो हनुमान जी को प्रणाम करें.

    वृष राशि के जातक–

    यदि आप वृष राशि के जातक हैं तो गुरुवार को चने की भीगी दाल घोड़े को खिलानी चाहिए, इसके अलावा अपने ऊपर से दो हल्दी की गांठ उतार कर वट वृक्ष की जड़ में रख देनी चाहिए.

    मिथुन राशि के जातक–

    यदि आप मिथुन राशि के जातक हैं तो शनिवार के दिन पीपल के वृक्ष पर सरसों का तेल चढ़ा कर एक दीपक जलाना चाहिए.

    कर्क राशि के जातक–

    यदि आप कर्क राशि के जातक हैं तो शनिवार के दिन काले कपड़े में उड़द की दाल बांध कर अपने ऊपर से सात बार उतार कर शनि जी के मंदिर में दान दे देना चाहिए, इसके अलावा आप उड़द दाल के पकोड़े बना कर कुत्तों को भी खिला सकते हैं.

    सिंह राशि के जातक–

    यदि आप सिंह राशि के जातक हैं तो गुरुवार के दिन पीले कपड़े में हल्दी की एक गांठ, केसर की कुछ पत्तियां व एक पीला फल रख कर मंदिर में दान कर देना चाहिए.

    कन्या राशि के जातक –

    यदि आप कन्या राशि के जातक हैं तो मंगलवार के दिन लाल कपड़े में मसूर की दाल बांध कर हनुमान जी के मंदिर में चढ़ाना चाहिए.

    तुला राशि के जातक –

    यदि आप तुला राशि के जातक हैं तो शुक्रवार के दिन मंदिर में कपूर, 21 रुई की बत्तियां घी में भिगो कर के देवी मंदिर में पुजारी को दे देना चाहिए.

    वृश्चिक राशि के जातक –

    यदि आप वृश्चिक राशि के जातक हैं तो बुधवार के दिन सात इलायची विष्णु भगवान जी के चरणों में चढ़ानी चाहिए इसके अलावा हो सके तो तोते को हरी मिर्च खिलाएं.

    धनु राशि के जातक –

    यदि आप धनु राशि के जातक हैं तो तो सोमवार के दिन चावल चिड़ियों को डालने चाहिए.

    मकर राशि के जातक –

    यदि आप मकर राशि के जातक हैं तो सूर्य देवता को तांबे के लोटे में चन्दन मिला कर जल चढ़ाना चाहिए.

    कुंभ राशि के जातक –

    यदि आप कुंभ राशि के जातक हैं तो बुधवार के दिन भीगे हुए मूंग गाय को खिलाने चाहिए इसके अलावा ॐ नमो नारायण का प्रति दिन जाप करना चाहिए.

    मीन राशि के जातक –

    यदि आप मीन राशि के जातक हैं तो शुक्रवार के दिन थोड़े से उबले हुए चावल में घी, बूरा और दही मिला कर कौओ को खिलाना चाहिए.