All Articles Read Articles in English

अपना करियर बनायें ज्योतिष की मदद से

विद्या ददाति विनयं विनयाद्याति पात्रताम् । पात्रत्वाद्धनमाप्नोति धनाद्धर्मं ततः सुखम् ।। अर्थात विद्या से विनयशीलता आती है, विनयशीलता से योग्यता और योग्यता से धन की प्राप्ति होती है। धन हो तो मनुष्य के मन में धर्म के प्रति रुझान होता है और जहाँ धर्म होता है वहां सुख की प्राप्ति होती है। १०$२ में विज्ञान लिया जाये या वाणिज्य (कॉमर्स) या आर्ट्स, यह कुंडली के अध्ययन द्वारा पता चलता है। अतः आप अपना नौकरी जन्मकुंडली दिखाकर बदल सकते हैं। जन्मकुंडली द्वारा पता चलता है कि उचित समय कब। अगर आप नौकरी छोड़ के बिजनेस करना चाहते हैं तो कब शुरू करे, किस सेक्टर या प्रोडेक्ट में शुरू करें एवं अकेले करें या पार्टनर के साथ, यह सब आप जान पायेंगे।

रचिता गुप्ता | 01-Jan-2014

Views: 5049